सोमवार, 6 अप्रैल 2009

पुराने कांग्रेसी भी बेटिकट

पन्द्रहवीं लोकसभा चुनाव में राजद-लोजपा ने आपसी तालमेल कर बिहार में कांग्रेस के लिए सिर्फ तीन सीटें छोड़ दी। इससे बौखलायी कांग्रेस ने सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया। पार्टी के इस फैसले से बिहार से जुड़े पुराने कांग्रेसियों के यहां दीवाली मनायी गयी। पुराने कांग्रेसी चुनाव मैदान में दांव आजमाने आगे आये और टिकट के लिए हाथ-पांव मारने लगे। पुराने कांग्रेसियों में राज्य सभा के पूर्व सांसद रजनी रंजन साहू भी थे। वे मुजफ्फरपुर से चुनाव लड़ना चाहते थे परंतु अंतिम समय में पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया। मुजफ्फरपुर का समीकरण कुछ इस प्रकार है-यहां जदयू के टिकट पर कैप्टन निषाद मैदान में हैं, वहीं लोजपा के टिकट पर भगवान लाल सहनी उतरे हैं। कांग्रेस का टिकट यहां विनीता विजय को मिला है। यहां के विधायक विजेन्द्र चौधरी ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा की है। श्री चौधरी को वैश्य वोट मिलने का कयास लगाया जा रहा है। भगवान लाल और निषाद एक-दूसरे का वोट काटेंगे। ऎसे में श्री चौधरी को इसका भी फायदा मिलेगा। ऎसे हालात में यदि रजनी रंजन साहू को टिकट मिल जाता तो कांग्रेस के पाले में यह सीट आ सकती थी। परंतु जिसकी लाठी, उसकी भैंस वाली कहावत तो हर जगह चरितार्थ होती है। श्री साहू की सेटिंग कमजोर पड़ गयी जिसका फायद विनीता विजय को मिला। फिर भी पुराने और अनुभवी कांग्रेसी रजनी रंजन साहू ने कांग्रेस का दामन नहीं छोड़ा है। सूबे में कांग्रेस ने कई ऎसे नेता को टिकट दिया है, जो लड़ाई में तीसरे-चौथे स्थान पर रहेंगे। ऎसे में इसका नुकसान पार्टी को ही होगी। चुनाव बाद राजद-लोजपा सुप्रीमो फिर मुंह चिढ़ायेंगे। बिहार में कांग्रेस पार्टी की कमजोर हालत को देखते हुए सोनिया गांधी को खुद एक-एक पहलू नजर रखनी चाहिए थी। इसके बाद ही टिकट पर कोई फैसला होना चाहिए था। तब हालात कुछ और होते, कांग्रेस को अधिक सीटें मिलती। बिहार में राजद-लोजपा को भी झटका लगता। वहीं एनडीए की भी परेशानी बढ़ती।

10 टिप्‍पणियां:

  1. हिन्दी ब्लॉग जगत में हार्दिक स्वागत है… समस्त शुभकामनायें… सिर्फ़ एक अर्ज है कि "वर्ड वेरिफ़िकेशन" हटा दें ताकि टिप्पणी में कोई बाधा न हो… धन्यवाद…

    उत्तर देंहटाएं
  2. स्वागत ब्लॉग परिवार में. अगली पोस्ट्स में 'सिन्धु-घाटी' सम्बन्धी जानकारियां भी दें.

    उत्तर देंहटाएं
  3. saamyik vishay par aapkaa aalekh pasand aayaa. patrkaar hone ke kaaran aapse apekshaa jyada rahegee. likhte rahein.

    उत्तर देंहटाएं
  4. अंधा बांटॆ रेवड़ी फिर फिर अपने को दे।

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपका हिंदी ब्लॉग की दुनिया में स्वागत है.....

    उत्तर देंहटाएं
  6. लिखना उत्तम धन
    करदे मन प्रसन्न
    तो आप यूँ ही लिखते रहिये
    चिठ्ठा जगत में स्वागत है आपका

    उत्तर देंहटाएं
  7. सुंदर अति सुंदर लिखते रहिये .......
    आपकी अगली पोस्ट का इंतजार रहेगा
    htt:\\ paharibaba.blogspost.comm

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं